कवर्धाछत्तीसगढ़

आज मोदी जी की गारंटी और विष्णुदेव साय जी के सुशासन में छत्तीसगढ़ के हर वर्ग और प्रदेश का विकास सुनिश्चित हो रहा : भावना बोहरा

भावना बोहरा ने विधानसभा में बजट पर की विस्तृत चर्चा, कहा प्रदेश के आर्थिक सशक्तिकरण के लिए ऐतिहासिक बजट

छत्तीसगढ़ विधानसभा में आज चर्चा के दौरान पंडरिया विधायक भावना बोहरा ने बजट 2024-25 पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए उसमें किये गए प्रावधानों एवं मुख्य बिंदुओं पर विस्तृत प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की गारंटी और मुख्यमंत्री विष्णु देव साय जी के सुशासन में छत्तीसगढ़ के हर वर्ग और प्रदेश का विकास सुनिश्चित हो रहा है। बजट में हर वर्ग का विशेष ध्यान रखते हुए प्रदेश के आर्थिक सशक्तिकरण, अधोसंरचना निर्माण, कल्याणकारी योजनाओं और जन आकांक्षाओं की पूर्ति का पूर्ण समावेश किया गया है, जो विकसित छत्तीसगढ़ के लक्ष्य को पूरा करने में सार्थक सिद्ध होगा।

भावना बोहरा ने कहा कि मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय जी का यह पहला बजट कोई साधारण बजट नहीं है। छत्तीसगढ़ को अगले 23 साल का लक्ष्य निर्धारित करने वाला यह बजट प्रदेश की एक नई रूपरेखा बनायेगा। इस नए विजन डॉक्यूमेंट बजट के लिए मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय जी और वित्त मंत्री ओपी चौधरी जी को शुभकामनाएं देते हुए, मैं प्रदेश के विकास को गति देने वाले इस बजट पर उनका आभार प्रकट करती हूं। उन्होंने आगे कहा कि अमृतकाल छत्तीसगढ़ विजन @2047 जिसका लक्ष्य सिर्फ एक वर्ष का वित्तीय बजट नहीं बल्कि अगले 2 दशक की आधारशिला रखना है। हमारे इस बजट में 2028 तक हमारी जीएसडीपी को दोगुना करके 10 लाख करोड़ तक पहुंचाने का लक्ष्य है। बजट में अगले 5 वर्षों में छत्तीसगढ़ को आर्थिक रूप से दोगुना सशक्त करने का लक्ष्य निर्धारित किया है और यह कदम तभी संभव है जब हम अपनी वास्तविक क्षमता को पहचान कर अपने कद को बढ़ाएंगे। मैं इस आर्थिक सशक्तिकरण के ठोस कदम के लिए इस सरकार का आभार प्रकट करती हूँ। मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय जी की सरकार ने इस बजट में 10 आधारभूत रणनीतिक स्तंभ रखा है। जिसमें हमारे आर्थिक विकास के केंद्र बिंदु GYAN अर्थात गरीब,युवा,अन्नदाता और नारी समाहित हैं।

इसके साथ ही तकनीक आधारित रिफॉर्म, सुशासन से तीव्र आर्थिक विकास पूंजीगत व्यय,प्राकृतिक संसाधनों का उचित इस्तेमाल, सरकार की सारी क्षमताओं के अत्तिरिक्त निजी निवेश,सरगुजा बस्तर का विकास, छत्तीसगढ़ी संस्कृति का विकास समेत अन्य महत्वपूर्ण बिंदु हैं जिन्हें हम एक समय सीमा निर्धारित करके भारत की स्वतंत्रता के 100 वर्ष पूर्ण होने पर 2047 तक भाजपा सरकार ने पूरा करने का लक्ष्य रखा है। आज भाजपा की सरकार छत्तीसगढ़ के नए भविष्य के लिए एक बेहतर मार्ग चुनकर लाई हैं। जिसमें 2 कदम साथ चलने से हम छत्तीसगढ़ को एक बेहतर भविष्य प्रदान कर सकते हैं और मझे उम्मीद है कि विपक्ष भी इस मार्ग में हमारे साथ चलेगा। इस बजट में सबसे विशेष बात यह है कि विष्णुदेव साय जी की सरकार ने कोई नया कर नहीं लाया है जिससे आम आदमी पर कर का बोझ नहीं बढ़ेगा लेकिन इसके बाद भी हमारे छत्तीसगढ़ के राजस्व में 22% वृद्धि का अनुमान है जोकि वाकई वित्तीय प्रबंधन का बेहतर क्रियान्वयन है। हमेशा से छत्तीसगढ़ इतने ही संसाधन और यही व्यवस्था रही लेकिन पिछले 5 साल जो इस प्रदेश की जनता को कष्ट झेलना पड़ा वो सिर्फ इसलिए हुआ क्योंकि यहाँ नीयत नीयत का अंतर है। जिस व्यवस्था से कल तक जनता त्रस्त थी आज उन्हीं संसाधनों और उसी व्यवस्था से माननीय विष्णुदेव साय जी की सरकार आर्थिक सशक्तिकरण का नया अध्याय लिख रही है। हमारा छत्तीसगढ़ कोई गरीब प्रदेश नहीं है हमारे पास हर तरह के खनिज हैं, प्राकृतिक संसाधन हैं, युवाओं का जोश है, ज्ञान का भंडार है और एक सुनहरे कल के लिए छत्तीसगढ़ में भाजपा की सरकार है।

भावना बोहरा ने आगे कहा कि विधानसभा चुनाव से पूर्व हमारे यशस्वी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने हमारे संकल्प पत्र से छत्तीसगढ़ की जनता को मोदी की गारंटी दी थी, आज यह कहते हुए मैं खुद को बहुत गौरवान्वित महसूस करती हूं कि हमारी सरकार बनने के 2 महीने के भीतर ही उस गारंटी के महत्वपूर्ण अंश पूरे किए जा चुके हैं। 5 साल तक छत्तीसगढ़ की जिस जनता को पक्की छत से दूर रखा गया, आंदोलन करने पर उन पर लाठियां चलाई गई ऐसे जरूरतमंद लोगों के लिए प्रधानमंत्री आवास मोदी की गारंटी थी और हमारे मुख्यमंत्री जी ने पहले ही कैबिनेट की बैठक में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 18 लाख घरों के निर्माण के लिए 8 हजार 369 करोड़ रुपए का प्रावधान किया। यह भाजपा सरकार की संवेदनशीलता प्रमाण है कि मोदी की गारंटी का मतलब ही होता है हर गारंटी पूरी होने की गारंटी। माताओं-बहनों से यह वादा किया था कि प्रदेश में भाजपा की सरकार बनते ही उनके आर्थिक सशक्तिकरण के लिए प्रतिमाह ₹1000 की राशि प्रदान की जाएगी।

उन्होंने कहा कि महतारी वंदन योजना के लिए 3000 करोड़ के बजट, किसानों को 2 वर्ष का बकाया धान बोनस एवं 3100 प्रति क्विंटल की दर से धान खरीदी, कृषक उन्नत योजना के तहत 10,000 करोड़, तेंदूपत्ता संग्राहकों को 5500 रुपये में प्रति मानक बोरा, शिक्षा हेतु पूर्व की सरकार द्वारा 19 हजार 489 करोड़ के बजट को बढ़ाकर 21 हजार 489 करोड़, महतारी दुलार योजना के नाम पर कांग्रेस सरकार ने कोई काम नही किया जबकि भाजपा सरकार ने 9 करोड़ के बजट का प्रावधान किया।ऐसे ही पीएम ग्रामीण सड़क योजना के लिए 789 करोड़, राष्ट्रीय आजीविका मिशन के लिए पूर्व में 494 करोड़ के प्रावधान को बढ़ाकर 561 करोड़, लोक निर्माण हेतु बजट 770 करोड़ से बढ़ाकर 912 करोड़, राज्य मार्गों के निर्माण हेतु 180 करोड़ से बढ़ाकर 190 करोड़, वर्ष 2023-2024 के बजट में जहाँ शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में कुल 1 हजार 377 नवीन निर्माण कार्य प्रस्तावित हुए वहीं वर्ष 2024-2025 के इस बजट में शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में कुल 01 हजार 690 नवीन निर्माण कार्य प्रस्तावित हुए हैं, जो इस बजट के माध्यम से विकसित छत्तीसगढ़ के विजन को दर्शा रही है। यह बजट एक ऐसा बजट है जो छत्तीसगढ़ के भविष्य को विकसित प्रदेश बनाकर प्रगति के शिखर पर पहुँचाने की शक्ति रखता है।मुझे विश्वास है कि इस बजट के माध्यम से हमारा छत्तीसगढ़ 2047 तक विकसित राज्यों की तुलना में नई उपलब्धियां अर्जित करेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
×

Powered by WhatsApp Chat

×