Uncategorized

भाजपा सरकार के नेतृत्व में आज महिलाओं को सम्मान मिल रहा है और महतारी वंदन का वरदान भी मिल रहा है : भावना बोहरा

भावना बोहरा ने पंडरिया में मिलेट कैफे खोलने की मांग की, कहा महिला सशक्त होगी तो समाज भी प्रगति करेगा

छत्तीसगढ़ विधानसभा में आज महिला एवं बाल विकास विभाग पर चर्चा के दौरान पंडरिया विधायक भावना बोहरा ने अपनी बात सदन के समक्ष रखा। उन्होंने वर्तमान में महिला सशक्तिकरण के लिए केंद्र व छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार द्वारा किये जा रहे सार्थक प्रयासों, योजनाओं एवं उनके सशक्तिकरण हेतु संचालित योजनाओं पर विस्तार से अपनी बात रखी और कहा कि छत्तीसगढ़ की माताओं-बहनों के लिए मुख्यमंत्री विष्णु देव साय जी और भाजपा सरकार कितनी संवेदनशील है इस बात का अनुमान वर्ष 2024-25 के बजट में महिला एवं बाल विकास विभाग हेतु किये गए 5,683 करोड़ रुपये के बजट से लगाया जा सकता है। पूर्व की कांग्रेस सरकार द्वारा 2675 करोड़ का बजट आवंटन किया गया था जिसके मुकाबले इस वर्ष हमारी सरकार ने लगभग दोगुना बजट प्रदेश की महिलाओं की सुरक्षा, सशक्तिकरण एवं बच्चों के बेहतर स्वास्थ्य व सुपोषण के लिए किया गया है, यही है छत्तीसगढ़ में सुशासन का सूर्योदय।

भावना बोहरा ने कहा कि यह मेरे लिए गौरव का क्षण है कि अपने पंडरिया क्षेत्र की महिलाओं की बात मुझे प्रदेश की सबसे बड़ी पंचायत विधानसभा में रखने का अवसर मिला है। उन्होंने कहा कि पंडरिया विधानसभा की बहुत सी माताएं बहनें हैं जो आज अपने परिवार की मुखिया होने का दायित्व निभा रहीं हैं। हमारी स्वसहायता समूह की बहनें भी विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृह कार्य कर रहीं हैं। ऐसे में उन्हें प्रोत्साहित करना और उनके लिए रोजगार के नए अवसर दिलाने हेतु पंडरिया में गढ़ कलेवा की तर्ज पर मिलेट कैफे खोलने की मांग करती हूं जिसका संचालन स्व-सहायता समूह की महिलाएं करेंगी।

उन्होंने आगे कहा कि इस मिलेट कैफे का उद्देश्य छत्तीसगढ़ के लोक व्यंजनों को मोटे अनाज में उपलब्ध करवाना होगा जैसे की रागी दोसा, ज्वार रोटी आदि। इसमें महिला स्व-सहायता समूह की भागीदारी से सीधे तौर पर क्षेत्र की महिलाओं को आर्थिक लाभ मिलेगा साथ ही मोटे अनाज उगाने वाले किसानों को भी फायदा होगा। इस कैफे के माध्यम से न सिर्फ हमारे किसान और महिलाएं लाभान्वित होंगे बल्कि हमारे छत्तीसगढ़ के पारंपरिक व्यंजन जो आज खोने की कगार पर हैं उनके प्रति नई पीढ़ी और सचेत होगी उसे आगे बढ़ाने में अपनी सहभागिता निभाएगी। उन्होंने निराश्रित महिलाओं हेतु बने नारी निकेतन एवं अनाथ व गरीब बच्चों के संरक्षण के लिए बाल संरक्षण केंद्र में हो रही लापरवाही, अव्यवस्था व अनियमितता को दुरुस्त करने की बात कही और मानसिक रूप से शोषित एवं पीड़ित महिलाओं के लिए पुनर्वास केंद्रों की स्थापना करने की मांग की।

इसके साथ ही भावना बोहरा ने पंडरिया विधानसभा में महिलाओं के लिए समर्पित व्यापारिक परिसर खोलने की भी मांग की हैं जहां पूर्ण रूप से व्यापारी महिलाएं अपने उत्पादों व विभिन्न चिजों को बेचकर आत्मनिर्भर बन सकें। इसके साथ ही उन्होंने विद्यालयों में छात्र-छात्राओं के लिए सिलाई की जाने वाली स्कूल ड्रेस के कार्य को भी महिला स्वसहायता समूह की महिलाओं को देने की मांग की है जिससे उन्हें अतिरिक्त आर्थिक लाभ होगा और नरेंद्र मोदी की लखपति दीदी योजना के क्रियान्वयन में भी मदद मिलेगी। भावना बोहरा ने कहा कि भाजपा सरकार ने केवल महिलाओं को सशक्त ही नही बनाया बल्कि उनका जीवन भी सुगम बनाया है।

बिजली से पानी और स्वच्छता से समृद्धि तक हर जगह प्रधानमंत्री श्री मोदी जी ने नारी को वह सम्मान दिलाने का काम किया है जिनकी वह सच्ची अधिकारी थी। और आज जब छत्तीसगढ़ में माननीय मुख्यमंत्री विष्णु देव साय जी की सरकार बनी है तब महिलाओं को सम्मान भी मिल रहा है और उनके सशक्तिकरण के लिए महतारी वंदन का वरदान भी मिल रहा है। हम छत्तीसगढ़ को अपनी महतारी कहते हैं और पिछले 5 सालों में छत्तीसगढ़ महतारी के नाम पर केवल उनकी उम्मीदों और विश्वास का उपहास करने वालों ने छत्तीसगढ़ की महतारी, छत्तीसगढ़ की बहनों को सड़क पर उतरने के लिए मजबूर कर दिया था। लेकिन अब वह काला दौर बीत चुका है, अब प्रदेश की महिलाएं आर्थिक रूप से सशक्त होने की राह पर चल पड़ी हैं और मुझे विश्वास है कि अब यह सशक्तिकरण का रथ किसी कच्ची सड़क के गड्ढे में फंसने वाला नहीं है।यह महतारी वंदन योजना तो पहला कदम है जिसने महिलाओं को प्रगति के वह पंख दिए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
×

Powered by WhatsApp Chat

×