छत्तीसगढ़टॉप न्यूज़देशमहिलायुवाराजनीतिराज्य

सीएम भूपेश बघेल ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिले के महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क “रीपा“ का किया शुभारंभ

छत्तीसगढ़ में संचालित न्याय योजना से जनसामान्य के खाते में पैसा जमा हो रहा है-कैबिनेट मंत्री अकबर

“रीपा“ से जरूरतमंदों को रोजगार मिले यही हमारा उद्देश्य है-मुख्यमंत्री बघेल

ग्राम मजगांव में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में कैबिनेट मंत्री मोहम्मद अकबर हुए शामिल

कवर्धा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ग्राम सरगांव में आयोजित भरोसे का सम्मेलन कार्यक्रम से छत्तीसगढ़ शासन की महत्वकांक्षी योजना के अंतर्गत ग्रामीण युवाओं, महिला समूहों में उद्यमिता को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से प्रदेश के सभी महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क “रीपा“ का शुभारंभ किया। कबीरधाम जिले में जिला स्तरीय कार्यक्रम कवर्धा विकासखंड के ग्राम मजगांव में स्थापित महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क में किया गया। ग्राम मजगांव में आयोजित जिला स्तरीय “रीपा“ के शुभारंभ के अवसर पर प्रदेश के वन, परिवहन, आवास, पर्यावरण, विधि विधायी तथा जलवायु परिवर्तन मंत्री व कवर्धा विधायक  मोहम्मद अकबर शामिल हुए और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मुख्यमंत्री से जुड़े रहे।


मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने बेरोजगारी भत्ता योजना के वेबपोर्टल का लोकार्पण किया साथ ही छत्तीसगढ़ सामाजिक आर्थिक सर्वेक्षण 2023 का एप्लीकेशन लॉन्च किया। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के अंतर्गत खरीफ वर्ष 2021 की चौथी एवं अंतिम किस्त के रूप में जिले के 1 लाख 15 हजार 575 किसानों के खाते में 77 करोड़ 81 लाख 98 हजार रूपए की राशि हस्तनांतरित की। उन्हांने राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना, गोधन न्याय योजना के अंतर्गत गोबर विक्रेता, पशुपालकों, महिला स्व-सहायता समूहों और गौठान समितियों के खाते राशि का भुगतान किया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री श्री बघेल ने नवनिर्मित 278 मल्टीएक्टिविटी सेन्टर का लोकार्पण और राजीव गांधी नगरीय भूमिहीन मजदूर न्याय योजना का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री के साथ विधानसभा अध्यक्ष श्री चरण दास महंत, पंचायत ग्रामीण विकास एवं कृषि मंत्री  रविंद्र चौबे, नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री  शिव डहरिया, खाद्य मंत्री  अमरजीत भगत उपस्थित थे। ग्राम मजगांव के जिला स्तरीय कार्यक्रम में क्रेडा के सदस्य  कन्हैया अग्रवाल, नगर पालिका अध्यक्ष  ऋषि शर्मा,  कलीम खान, कृषि उपज मंडी अध्यक्ष  नीलकंठ साहू, उपाध्यक्ष  चोवाराम साहू, जिला पंचायत उपाध्यक्ष प्रतिनिधि  होरी साहू, पार्ष  मोहित महेश्वरी,  अशोक सिंह, बोड़ला जनपद उपाध्यक्ष  सनत जायसवाल,  अगम दास अनंत, कलेक्टर  जनमेजय महोबे, पुलिस अधीक्षक डॉ. लाल उमेद सिंह, जिला पंचायत सीईओ  संदीप अग्रवाल सहित जनप्रतिनिधि, महिला स्व-सहायता समूह की दीदीयां, ग्रामीण उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने कहा कि लगातार चार साल के विपरीत परिस्थितियों में भी हमने छत्तीसगढ़ की जनता का भरोसा बनाए रखा है। हमने किसानों, मजदूरों, नौजवानों सभी का भरोसा और विश्वास बनाए रखा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार की योजनाओं से छत्तीसगढ़ में खेती किसानी की प्रगति हुई है। सरकार ने विभिन्न योजनाओं के जरिए लोगों की जेब मे पैसा डाला है। इससे व्यापार और व्यवसाय भी बढ़ा, परिणास्वरूप उद्योग बढ़े, यही कारण है कि छत्तीसगढ़ में किसी मंदी का प्रभाव नहीं पड़ा। मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि हमारा प्रयास सबको आगे बढ़ाने का है। उन्होंने कहा कि गांवों में उद्योग खोलने के लिए हम सुविधा प्रदान कर रहे हैं, जरूरतमंदों को रोजगार मिले यही हमारा उद्देश्य है। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में परंपरागत उद्योग हैं, इसका लाभ मिले इसलिए हमने महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क “रीपा“ की शुरुआत की है।
मंत्री  अकबर ने जिलेवासियों को हिन्दू नववर्ष की बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा कि जिले के प्रत्येक विकासखण्डों में 2-2 सहित जिले में कुल 8 महात्मा गांधी ग्रामीण औद्योगिक पार्क (रीपा) का आज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा शुभारंभ किया गया। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने बेरोजगारी भत्ता योजना के वेबपोर्टल का लोकार्पण किया साथ ही छत्तीसगढ़ सामाजिक आर्थिक सर्वेक्षण 2023 का एप्लीकेशन लॉन्च किया। उन्होंने बताया कि छत्तीसगढ़ में धान का उत्पादन लगातार बढ़ रहा है, इसे ही देखते हुए अब सरकार किसानों से प्रति एकड़ 20 क्विंटल धान खरीदेगी। मंत्री  अकबर ने बताया कि प्रति एकड़ धान खरीदी की मात्रा 15 क्विंटल से बढ़ाकर 20 क्विंटल कर दिया है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ में संचालित योजना से आम जनों के खाते पैसा जमा हो रहा है।
कलेक्टर  जनमेजय महोबे ने बताया कि जिले के विकासखंडों के ग्रामीण क्षेत्रों में आजीविका के नए साधन विकसित करने के लिए महात्मा गांधी रूरल इंडस्ट्रियल पार्क रीपा की स्थापना की गई है। मजगांव के साथ ज़िले के दशरंगपुर सिल्हाटी सहित दलदली, कापादाह, भवालपुर, सूरजपुरा जंगल के रीपा केंद्रों में होने वाली गतिविधियों का भी लोकार्पण किया गया। उन्होंने बताया कि शासन द्वारा रीपा केंद्रों को विकसित करने के लिए सहायता प्रदान की जा रही है। जिससे आंतरिक सड़क निर्माण, विद्युत व्यवस्था,जलापूर्ति,पानी निकासी की व्यवस्था, समूह को कार्य करने के लिए वर्किंग शेड, शिशु गृह आदि तैयार किया गया है। रीपा योजना से ग्रामीण अर्थव्यवस्था को बहुत मजबूती मिलेगी एवं ग्रामीणों के उद्यमी बनाने का मार्ग प्रशस्त होगा।
जिला पंचायत सीईओ  संदीप अग्रवाल ने बताया कि मजगांव में स्थापित रीपा केंद्र में स्व सहायता समूह द्वारा वाटर प्लांट एवं आइस फैक्ट्री, पेपर कप एवं दोनापत्तल गोबर पेंट फेब्रिकेशन का व्यवसाय प्रारंभ किया गया इसके साथ ही फ्लाई एश ब्रिक्स के लिए भी मशीन स्थापित किया गया है। दशरंगपुर रीपा केंद्र में फेब्रिकेशन कार्य के साथ में राइस वैल्यू एडिशनल सामग्री, फ्लाई ऐश ब्रिक्स व्यवसाय से समूह को जोड़कर आत्मनिर्भर बनाने की गतिविधियां का लोकार्पण किया गया। उन्होंने बताया कि कांपादाह रीपा केंद्र में पेपर कप सोलर ड्रायर का व्यवसाय प्रारंभ किया गया। भवालपुर रीपा में चिक्की बार निर्माण का व्यवसाय प्रारंभ किया गया। सूरजपुरा जंगल में चिप्स यूनिट एवं नमकीन यूनिट एवं दाल मिल का कार्य समूह द्वारा प्रारंभ किया गया। सिल्हाटी रीपा केंद्र में दोना पत्तल एव गोबर पेंट का व्यवसाय समूह द्वारा प्रारंभ किया गया है। इसी तरह दलदली में सोलर ड्रायर का काम प्रारंभ किया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
×

Powered by WhatsApp Chat

×