छत्तीसगढ़रायपुर

ICU वार्ड से फरार हुआ मरीज, एक दिन बाद सड़क में मिला शव

रायपुर। रायपुर के एक निजी अस्पताल के आईसीयू वार्ड में भर्ती एक मरीज शराब पीने के लिए इतना बेताब हुआ कि उसने हॉस्पिटल में चल रहे इलाज को छोड़ वहां से भागने का फैसला कर लिया। इसके लिए उसने अस्पताल में मरीजों को पहनाए जाने वाले कपड़े को बड़ी चालाकी से बदला और हॉस्पिटल के गार्ड समेत डॉक्टर और नर्सिंग स्टाफ को चकमा देकर वहां से रफ्फूचक्कर हो गया और यही उससे गलती हुई। इस मरीज ने शराब पीने की लत के चलते अपनी जान गंवा दी है। मरीज का शव रायपुर के आमानाका थाना क्षेत्र में स्थित एम्स अस्पताल के सामने सड़क पर पड़ी हुई मिली है। इसके बाद मरीज के परिजनों ने निजी अस्पताल प्रबंधन पर लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए वहां प्रदर्शन किया।

यह पूरा मामला रायपुर के देवेंद्र नगर स्थित श्री नारायणा हॉस्पिटल की है। यहां 5 मार्च को कवर्धा के आदतन शराबी जाकिर चौहान को अल्कोहलिक पैनक्रियाज और मनोरोग की समस्या आने के बाद हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। यहां जाकिर डॉक्टरों की निगरानी में पूरे एक दिन भी नहीं रह पाया। वह 6 मार्च को सुबह 4.४8 बजे हॉस्पिटल में मौजूद स्टाफ को चकमा देकर वहां से फरार हो गया। जब उसके फरार होने की जानकारी हुई तो सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए उसमें जाकिर सिविल ड्रेस में हॉस्पिटल से भागते हुए दिखाई दे रहा है।

इस मामले में श्री नारायणा हॉस्पिटल के जर्नल मैनेजर अतुल सिंघानिया ने बताया कि एक मरीज पर ही ध्यान केंद्रित रखना मुश्किल है। सभी मरीजों के साथ अटेंडर होते हैं। कोई भी आवश्यकता पड़ने पर उन्हें इतला दी जाति है या मरीज को परेशानी होने की स्थिति में अटेंडर आकर जानकारी देता है। अतुल सिंघानिया ने आगे जाकिर चौहान की मौत पर अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए उनके परिजनों के प्रति सहानुभूति जताया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
×

Powered by WhatsApp Chat

×