कवर्धाक्राइमछत्तीसगढ़

कवर्धा:खुले आम बिक रही अवैध शराब,डिप्टी सीएम का गृह जिला बना प्रमुख अड्डा

आशा के कार्यो से जनता निराशा

कवर्धा । जिले में अवैध शराब की बिक्री जोरों पर है। शहर से लेकर गांव तक पहुंच रही शराब खुले आम बिक रही है। यह आसानी से पान की दुकान में मिल रही है। अवैध शराब बेचने वालों पर पुलिस की नजर नहीं है और ना ही आबकारी विभाग को इसकी खबर । अवैध शराब की बिक्री जोरों पर चल रही है।

गांव का हर एक व्यक्ति से लेकर बच्चा बच्चा जानता है शराब बिकने का स्थान लेकिन गांवों में अवैध शराब की बिक्री पुलिस की मुश्तैदी के बाद भी नहीं रुक पा रही है। हालांकि पुलिस कार्रवाई करने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है। इसके बावजूद किसके छत्रछाया में शराब अवैध रूप से कोचियों तक पहुंच रही है। प्रशासनिक रूप से ठोस कार्रवाई के अभाव में पुलिस महज औपचारिकता निभा रही है और आबकारी विभाग जानबूझ कर आंख खोलने की कोशिश नहीं कर रही ।

होटल ढाबा में खुले आम परोसें जा रहे हैं शराब

शहर सहित जिले भर में छोटे-छोटे ढाबे की बाढ़ लगी हुई है जहां धड़ल्ले से जाम से जाम छलक रही है जिसे देखने वाला कोई नहीं है। हाल ही में सूत्रों से पता चला कि कुकदुर के होटल-ढाबों में शराब पिलाई जाती है जिस पर पुलिस भी मेहरबान है। पुलिस अधीक्षक तक मौखिक रूप से सिकायत पहुंच चुकी है पर शिकायत में कार्यवाही कोसों दूर है।
वही हम जिला मुख्यालय की बात करें तो हर गली मोहल्ले में अवैध रूप से शराब बेची जा रही है पर आबकारी विभाग आंख मूंदकर मुकदर्शक बैठी है।

हर दूसरे गांव में अवैध रूप से हो रही शराब की बिक्री

जिले में अवैध रुप से शराब की .बिक्री आम बात हो गई हैं। ग्रामीणों के बताए अनुसार हर दूसरे गांव में शराब की बिक्री की जा रही है। पुलिस तो शिकायत पर कार्रवाई करती है, लेकिन आबकारी विभाग कभी झांकने तक भी नहीं आती। इसके कारण अवैध रूप से शराब बेच रहे कोचिया खुलेआम घर-घर तक पहुंच रही है।

जनप्रतिनिधि भी दें ध्यान

कबीरधाम जिले में चुनाव से ठीक पहले जनप्रतिनिधि तरह-तरह के धरना प्रदर्शन करते नजर आते हैं पर चुनाव खत्म होने के बाद सब भूल जाते हैं। आज तक किसी भी जन प्रतिनिधियों द्वारा कोई भी मुहिम नहीं चलायी गयी है जिससे अवैध रूप से बिक रही शराब पर रोक या ठोस कार्यवाही हो पाये। जबकी जनता प्रतिनिधि इसलिए चुनती है कि जिससे गांव या शहर में हो रही विकास की रूकावट दूर हो सके और हो रहे गलत कार्यों के प्रति शासन द्वारा कार्यवाही की जा सके। कबीरधाम छत्तीसगढ़ के उप मुख्यमंत्री (डिप्टी सीएम) विजय शर्मा का गृह नगर है। साथ ही राजनांदगांव कवर्धा के सांसद संतोष पांडे व पंडरिया विधायक भावना बोहरा आदि जनप्रतिनिधियों का मूल निवास कबीरधाम जिला ही है, उसके बावजूद अवैध शराब पर कार्यवाही ढीली पड़ रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
×

Powered by WhatsApp Chat

×