कवर्धाछत्तीसगढ़

मुख्यमंत्री स्कूल जतन योजना के तहत स्कूल भवनों का हो रहा कायाकल्प

स्कूल भवन नवीनकरण कार्य से बच्चों को मिल रहा शिक्षा का बेहतर वातावरण

कवर्धा, । शासन की महत्वाकांक्षी मुख्यमंत्री स्कूल जतन योजना के अंतर्गत अब जिले के स्कूल संवारने लगा है। जिले में योजना अंतर्गत शाला भवन मरम्मत नवीनीकरण एवं जीवणोद्धार कार्य के साथ अतिरिक्त कक्ष निर्माण कराया जा रहा है, जिसके लिए राज्य शासन से इन कार्यों की स्वीकृति प्राप्त हुई थी। शाला भवन मरम्मत नवीनीकरण एवं अतिरिक्त कक्ष के कुल 663 कार्य लागत राशि 25 करोड़ 44 लाख 32 हजार रुपए स्वीकृत किया गया है। इस संबंध में प्राप्त जानकारी अनुसार भवन मरम्मत के कार्यों में से 86 कार्य पूर्ण हो चुके हैं। वही 301 कार्य प्रगति पर है जिसमें से 120 कार्य 30 जून तक पूर्ण हो जाएगा। शेष 284 मरम्मत कार्य लगभग पूर्णता की ओर है, जिसे 10 जुलाई तक पूरा कर लिया जाएगा। शेष 46 कार्य को यथाशीघ्र पूर्ण करने के निर्देश विभाग को दिए गए हैं। इसी तरह 120 अतिरिक्त कक्ष निर्माण भी जोरो से चल रही है जिसे 15 सितंबर तक विभाग द्वारा पूर्ण कर लिया जाएगा एवं 7 ऐसे कार्य हैं जिन्हें निरस्त किया गया।

कलेक्टर  जनमेजय महोबे द्वारा मुख्यमंत्री स्कूल जतन योजना के तहत स्वीकृत प्रगतिरत कार्यो की नियमित समीक्षा की जा रही है। कलेक्टर ने हाल ही में कवर्धा, बोड़ला, पंडरिया और सहसपुर लोहारा विकासखण्ड स्तर पर मैदानी अमले की संयुक्त बैठक लेकर मुख्यमंत्री स्कूल जतन योजना के कार्यो को शीघ्रता से पूरा करने के निर्देश दिए है। इसके लिए नियमित मानिटरिंग के लिए बैठक आयोजित कर निर्देशित किया गया है। जिला स्तर से जिला शिक्षा अधिकारी, जिला मिशन समन्वयक एवं समस्त विकासखंड स्तर के अधिकारियों को गुणवत्तापूर्ण निर्माण कार्य के लिए सतत निगरानी करने निर्देशित किया गया है तथा कार्य एजेंसी विभाग को समय सीमा में गुणवत्तापूर्ण कार्य पूर्णता के लिए निर्देश दिए गए है।
उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री स्कूल जतन योजना अंतर्गत स्कूल शिक्षा विभाग एवं समग्र शिक्षा के मद से शाला भवनों का मरम्मत एवं नवीनीकरण जैसे कार्य हो रहे हैं। जिससे कि बच्चों को शिक्षा के लिए बेहतर वातावरण मिल सके। गौरतलब है कि स्वीकृत सभी कार्यों को ग्रामीण यांत्रिकी सेवा विभाग के द्वारा कराया जा रहा है जिनमें से बहुत से कार्य पूर्ण होकर स्कूल प्रारंभ किया जा चुका है। शेष बचे कार्य भी लगभग पूर्णता की ओर है। स्कूलों का संचालन नियमित रूप से किया जा रहा है एवं जिन स्थानों में मरम्मत का कार्य प्रगति पर है वहां वैकल्पिक व्यवस्था के तहत स्कूल का संचालन निरंतर जारी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also
Close
Back to top button
×

Powered by WhatsApp Chat

×