छत्तीसगढ़

उदंती अभ्यारण्य एंटी पोचिंग टीम पर आरोपी को थर्ड डिग्री टॉर्चर देने का लगा आरोप, अब न्यायालय ने वन विभाग से मांगा जवाब

गरियाबंद। उदंती अभ्यारण्य एंटी पोचिंग टीम ने आरोपी पर थर्ड डिग्री का इस्तेमाल कर उसे टॉर्चर किया हैं। जिसके बाद आरोपी ने न्यायालय के सामने चोट को दिखाए। न्यायालय ने इस आधार पर मेडिकल जांच के बाद वन विभाग के अधिकारियों को समन जारी कर जवाब मांगा हैं।

जानिए क्या है पूरा मामला
दरअसल, अभयारण्य में 25 दिन पहले पोटाश बम से हमला कर भालू का शिकार किया गया था. जिसके बाद सभी आरोपी फरार हो गए थे. टीम ने भालू के अवशेष जब्त कर जांच में जुट गई थी। इस मामले में टीम ने रविवार को एक आरोपी को हिरासत में लिया। जिसका नाम हजारी गोंड हैं। जहां से उसे मंगलवार को न्यायालय में पेश किया गया था।

 

जहां आरोपी ने न्यायधीश के समक्ष थर्ड डिग्री के इस्तेमाल का आरोप लगाया. आरोपी ने करंट व पिटाई से बने चोट के निशान भी दिखाए, जिसके बाद न्यायालय ने मेडिकल जांच कराने के बाद विभाग के जिम्मेदार अफसरों के नाम समन जारी कर जवाब मांगा है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
×

Powered by WhatsApp Chat

×